Breaking


गोंडा न्यूज लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
गोंडा न्यूज लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शनिवार, 20 नवंबर 2021

नवंबर 20, 2021

दबंगों की धमकी से परेशान युवक ने लगाई, एसडीएम से न्याय की गुहार।





गोंडा ( मनकापुर):-  थाना क्षेत्र मनकापुर के अंतर्गत आने वाले गांव बैरीपुर रामनाथ विरतिया के निवासी गोविंद सरन उर्फ सुरेश कुमार ने एसडीएम मनकापुर से लिखित शिकायत दर्ज कर न्याय की गुहार लगाई है, पीड़ित ने शिकायत में कहा है कि गांव के ही निवासी दबंग दिनेश शुक्ला व उनके बेटे रवि शुक्ला तथा अमित शुक्ला आये दिन रास्ते को लेकर जान से मारने व रास्ते में दीवार खड़ी करने की धमकी देते रहते हैं। पीड़ित ने कहा कि जिस जमीन की गाटा संख्या 247 पर दिनेश शुक्ला दीवार उठाने की धमकी देते हैं, उस जमीन का मामला न्यायालय में विचाराधीन है। गोविन्द सरन उर्फ सुरेश कुमार ने यह भी आरोप लगाया दिनेश शुक्ला अक्सर रास्ते को लेकर विवाद किया करते हैं जबकि हम सब अपने जमीन पर ही आते जाते है। पीड़ित ने यह भी आरोप लगाया कि दिनेश शुक्ला अक्सर यह भी कहकर धमकियां दिया करता है कि उनका भतीजा अंकुर शुक्ला तहसील में बैठता है, दो मिनट में मुकदमें को खत्म करा देगा। पीड़ित ने दिनेश शुक्ला के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि ये हमारी घर की महिलाओं के सामने अर्द्धनग्न खड़े होकर अभद्र गालियां बकता है जिससे महिलाओं की लज्जा भंग होती है। पीड़ित ने कहा कि दिनेश शुक्ला व उनके बेटे से मेरे परिवार को जान-माल का खतरा है। पीड़ित ने जमीन को लेकर कभी भी अप्रिय घटना की आशंका जताई है। बता दें कि इस पूरे प्रकरण को गंभीरता से लेकर उपजिलाधिकारी मनकापुर ने आवश्यक कार्रवाई के लिए गोविन्द सरन उर्फ सुरेश कुमार को आश्वासन दिया है।

गुरुवार, 7 अक्तूबर 2021

अक्तूबर 07, 2021

गोंडा - जिला अस्पताल में 1 हजार एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट का हुआ लोकार्पण।





गुरुवार को जिला अस्पताल में एक हजार एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण हुआ। विधायक सदर प्रतीक भूषण सिंह तथा सीडीओ शशांक त्रिपाठी ने फीता काटकर ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण किया।
इस अवसर पर मा0 विधायक सदर श्री प्रतीक भूषण सिंह ने बताया की पीएम केयर्स फंड से इस 1000 लीटर का ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना की गई है जिसका उद्घाटन आज हुआ है। विधायक सदर ने कहा कोविड-19 के दौरान ऑक्सीजन जो व्यवस्था जिला अस्पताल और महिला अस्पताल में थी उससे आवश्यकता की पूर्ति नहीं हो पा रही थी लेकिन अब बाहर से आक्सीजन मंगाने की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी।
वहीं मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी ने बताया कि आज जिला अस्पताल में एक हजार एलएमपी पीएम केयर्स फंड से स्थापित किया गया है जिसका उद्घाटन विधायक ने किया है, इसके पूर्व जिला अस्पताल में 335 एलएमपी ऑक्सीजन प्लांट था जो प्रति मिनट 335 लीटर ऑक्सीजन उत्पादन करता था। वही दूसरा प्लांट महिला अस्पताल में था। इसके बाद उस समय संकल्प लिया गया कि अब जिले में ऑक्सीजन की कमी नहीं आने दिया जाएगा। जिसके तहत काजीदेवर स्वास्थ्य केंद्र पर 330 एलएमपी का सीएसआर ने स्थापना की वहीं जिला अस्पताल में 500 एलएमपी सीएसआर द्वारा स्थापित किया गया। अभी हाल में विधायक निधि द्वारा बड़ा प्लांट स्थापित किया जा रहा है जो 1500 लीटर का होगा यह जल्द ही तैयार हो जाएगा तो जिले में 3800 लीटर का प्लांट हो जाएगा जिससे प्रति मिनट 3800 लीटर आक्सीजन उत्पादन शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता को लेकर सरकार द्वारा लगातार किए जा रहे सार्थक प्रयासों से लोगों में उत्साह है और सरकार के उत्कृष्ट कार्य की चहुँ ओर प्रशंसा भी हो रही है।
जिला अस्पताल के प्रमुख अधीक्षक डा0 घनश्याम सिंह ने बताया कि डीआरडीओ के सहयोग से पीएम केयर फंड से 86 लाख रुपए की लागत से ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना की गई हैं। प्लांट लगाने का कार्य सीपीडब्लूडी द्वारा किया गया है। लोकार्पण के पहले देश के प्रधानमंत्री द्वारा पूरे प्रदेश के ऑक्सीजन प्लांट का ऑनलाइन वर्चुअल उद्घाटन किया गया जिसके प्रसारण को अधिकारियों ने देखा।
इस अवसर पर सांसद गोण्डा के प्रतिनिधि रमाशंकर मिश्र, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 आरएस केसरी, प्रमुख अधीक्षक जिला अस्पताल डा0 घनश्याम सिंह सहित अन्य गणमान्य मौजूद रहे।

शनिवार, 2 अक्तूबर 2021

अक्तूबर 02, 2021

सायकिल सवार वृद्ध को अज्ञात वाहन टक्कर मार कर उतारा मौत के घाट,मृतक की नहीं हो पा रही पहचान।



 
गोंडा। थाना क्षेत्र मोती गंज पुलिस चौकी कहोबा क्षेत्र  मनकापुर दर्जी कुआं सड़क मार्ग स्थित बीरेपुर फरेंदा गांव के समीप।एक अज्ञात बृद्ध सायकिल से जा रहा था की किसी वाहन ने टक्कर मार कर भाग गया घटना की सूचना पाकर चौकी प्रभारी मदनलाल गौतम घटना स्थल पर पहुंचे तत्काल इलाज के लिए सीएचसी काजीदेवर लेकर गये जहां डाक्टर ने किया मृत घोषित। थाना अध्यक्ष ब्रह्मा नंद सिंह व चौकी प्रभारी मदनलाल गौतम ने संयुक्त रूप से बताया सुचना मिलते ही तत्काल मौके पर पहुंचे घायल को इलाज के लिए सीएचसी अस्पताल काजी देवर लेकर गये जहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया मृतक लगभग 70साल का है मृतक कहां का है पता लगाया जा रहा है निकट लोगों से पहचाना कराया गया लेकिन अभी तक कोई पता नहीं चला फिलहाल शव को मोर्चरी में भेजा जा रहा है साथ बिविध कार्यवाही की जा रही है। मृतक के शिनाख्त के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वटशटप गुप आदि का सहारा लिया जा रहा है।

शुक्रवार, 1 अक्तूबर 2021

अक्तूबर 01, 2021

ब्रेकिंग न्यूज गोंडा - ट्रिपल हत्याकांड से क्षेत्र में मचा हड़कंप।डॉग स्क्वायड और फॉरेंसिक टीम मौके पर।

खरगूपुर न्यूज। उत्तर प्रदेश के  गोंडा जिले से तिहरे मर्डर का सनसनीखेज मामला सामने आया है| गोंडा जिले में ट्रिपल हत्याकांड की खबर से इलाके में  हड़कंप मच गया|  जिले के खरगूपुर क्षेत्र  में मा के साथ उसकी दो बेटियों की हत्या कर दी गई| महिला के साथ के साथ 3 साल का 1 साल बेटी की हत्या निर्मम...गला दबाकर की गई तीनों की हत्या।हत्या के पीछे बताया जा रहा पारिवारिक विवाद| पुलिस ने महिला के पति को हिरासत में लिया....| बाहर से अभी कुछ दिन पहले ही आया था पति...| डॉग स्क्वायड और फॉरेंसिक टीम मौके पर| गोंडा एसपी संतोष मिश्रा भी मौके पर पहुंचे...लोगों से ले रहे है घटना की जानकारी| खरगूपुर के देवरिया कला गॉव की घटना।



गुरुवार, 30 सितंबर 2021

सितंबर 30, 2021

ब्रेकिंग न्यूज़ - जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में चला जम कर फायरिंग।

गोंडा। क्षेत्र के मोहनपुर गांव में जमीनी विवाद को लेकर हवाई फायरिंग का मामला प्रकाश में आया है । जिसके बाद सूचना पर पहुंची पुलिस ने कार्यवाही शुरू कर दी है । घटना पर अपर पुलिस अधीक्षक शिवराज ने बताया कि सूचना पर पुहंची पुलिस ने घटना की जानकारी लेकर मौके पर पुलिस तैनात कर दी है । पुलिस के मुताबिक तरबगंज के मोहनपुर गांव के ही सौरभ द्विवेदी और सोमेश पांडेय के बीच गांव में जमीनी विवाद चल रहा था । जिसको लेकर पहले दोनो पक्ष में तनातनी चल रहा था ।मंगलवार को दोनो पक्ष आपस मे भिड़ गए ।जिसमें  मारपीट का वीडियो वायरल हो रहा है । वहीं घटना के बाद दोनों पक्ष आपस मे सुलह करने की बात कह कर किसी कानूनी कार्यवाही से गुरेज कर रहे हैं।उधर एसओ संतोष सरोज ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है। तहरीर मिलते ही मुकदमा पंजीकृत किया जाएगा।

गुरुवार, 23 सितंबर 2021

सितंबर 23, 2021

साप्ताहिक बंदी में जगह-जगह कैम्प लगाकर कर करायें श्रमिकों का पंजीकरण-आयुक्त।


आयुक्त ने असंगठित कर्मकारों का पंजीयन शत-प्रतिशत पूरा करने के दिए निर्देश

मंडल  के लिए कुल 5 लाख 34 हजार पंजीयन का लक्ष्य आबंटित

           आयुक्त, देवीपाटन मंडल श्री एस०वी०एस० रंगाराव की अध्यक्षता में आयुक्त कार्यालय सभा कक्ष में असंगठित कर्मकारों के पंजीकरण के संबंध में संपन्न बैठक में आयुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि विभिन्न कार्य क्षेत्रों से संबंधित समस्त 45 प्रकार के कर्मकारों  के पंजीयन के संबंध में ग्राउंड लेवल पर व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करते हुए पंजीयन कराएं ताकि मंडल के निर्धारित लक्ष्य की शत-प्रतिशत उपलब्धि हो सके और असंगठित क्षेत्र के कर्मकारों को सामाजिक सुरक्षा मिल सके।
  आयुक्त ने यह भी निर्देश दिए हैं कि अधिकारी इस बात का प्रयास करें कि लक्ष्य से भी अधिक लोगों का पंजीयन कराकर उन्हें योजनाओं से लाभान्वित कराया जाए। उन्होंने कहा कि मंडल के सभी जनपदों में साप्ताहिक बंदी के दौरान जगह-जगह पर कैम्प लगाकर श्रमिकों का पंजीकरण करवाया जाय तथा पंजीकरण तिथि से पहले इसका व्यापक प्रचार-प्रसार भी सुनिश्चित करा दिया जाए। उन्होंने  आगामी 25 सितंबर, 2021 को मंडल के जनपदों में आयोजित होने वाले "गरीब कल्याण मेला" में  इसके लिए काउंटर लगाए जाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने यह भी कहा है कि इसका व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करा दिया जाए ताकि पात्र व्यक्ति संबंधित अभिलेख लाकर अपना पंजीयन करा सकें।
    आयुक्त ने  मंडल के जिलाधिकारियों द्वारा पंजीयन कराए जाने के संबंध में विभागवार लक्ष्य आवंटन का उल्लेख करते हुए कहा कि संबंधित विभाग आवंटित लक्ष्य के सापेक्ष शत- प्रतिशत पंजीयन कराना सुनिश्चित करें और उसकी सूचना श्रम विभाग को उपलब्ध कराएं।
      बैठक में उपश्रमायुक्त, देवीपाटन मंडल श्रीमती रचना केसरवानी ने पंजीकरण के संबंध में अद्यतन स्थिति की जानकारी देते हुए बताया कि उ०प्र० असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत 45 प्रकार के कार्यों में आवर्त श्रमिकों का जनपदवार आवंटित लक्ष्य निर्धारित किया गया है।जिसके अनुसार मंडल के चारों जनपदों को प्रति जनपद वार 1लाख 33 हजार 500 का लक्ष्य निर्धारित करते हुए मंडल  के लिए कुल 5 लाख 34 हजार का लक्ष्य आबंटित  किया गया है, जिसके सापेक्ष मंडल में अब तक कुल 70 हजार 441 ई-श्रम पहचान पत्र निर्गत किये गये है। इसके साथ ही जनपद के सभी विभागों को असंगठित कर्मकारों के पंजीयन कराने हेतु विभागवार लक्ष्य आवंटित किया गया है।  उन्होंने बताया कि असंगठित क्षेत्र के कर्मकारों को पंजीयन के पश्चात वे दो लाख के बीमा व परिवार सहित पांच लाख के कैशलेस इलाज की सुविधा पाएंगे, इसके साथ ही साथ उनका नि:शुल्क पंजीयन कराया जा रहा है।
      इस अवसर पर संयुक्त विकास आयुक्त देवीपाटन मंडल श्री राजेंद्र प्रसाद, उप श्रमायुक्त देवीपाटन मंडल श्रीमती रचना केसरवानी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी श्री योगेश दीक्षित, उपनिदेशक पंचायत श्री आर०एस चौधरी, एडी बेसिक शिक्षा विभाग, संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य तथा एआरटीओ सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

बुधवार, 22 सितंबर 2021

सितंबर 22, 2021

ब्रेकिंग न्यूज़ गोंडा - जिलाअस्पताल के आर्थो सर्जन डॉ विवेक स्वर्णकार की सेवा समाप्त।

गोंडा। जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही की संस्तुति पर जिला अस्पताल के ऑर्थो सर्जन डा0 विवेक स्वर्णकार की सेवा शासन द्वारा समाप्त कर दी गई है।
   इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए जिलाधिकारी श्री शाही ने बताया कि डा0 विवेक स्वर्णकार विगत 29 अप्रैल से बिना किसी सूचना के अनुपस्थित चल रहे थे। जिला अस्पताल के प्रमुख अधीक्षक द्वारा कई उन्हें नोटिस दी गई तथा ड्यूटी पर आने के लिए कहा गया परन्तु डा0 स्वर्णकार लगातार ड्यूटी से गैरहाजिर चलते रहे। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी के पत्र पर शासन द्वारा उनकी सेवा समाप्त करने की कार्यवाही की गई है।

मंगलवार, 21 सितंबर 2021

सितंबर 21, 2021

टीबी के हर मरीज की समय से हो पहचान, कार्यक्रम में सहयोग करेंगे ग्राम प्रधान।


- "टीबी हारेगा - देश जीतेगा" कार्यक्रम के तहत ब्लॉक स्तर पर ग्राम-प्रधानों को दिया जा रहा प्रशिक्षण ।
- 31 अक्टूबर 2021 तक चलेगा दो सितंबर से चार चरणों में चलाया जा रहा 'सक्रिय टीबी रोगी खोजी अभियान' ।

गोंडा, 21 सितंबर 2021 ||
देश को टीबी से मुक्त करने हेतु चल रहे अभियान “टीबी हारेगा - देश जीतेगा“ के क्रम में शासन के निर्देश पर जनपद में 02 सितम्बर 2021 से 31 अक्टूबर 2021 तक चार चरणों में अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें प्रथम चरण में अनाथालय, नारी निकेतन, बाल संरक्षण गृह, कारागार, वृद्वाश्रम व मदरसा इत्यादि में सक्रिय टीबी रोगी खोजी अभियान चलाया गया ।
द्वितीय चरण में शहरी एवं ग्रामीण मलिन बस्ती तथा तृतीय चरण में सब्जी मण्डी, फल मण्डी, लेबर मार्केट निर्माणाधीन प्रोजेक्ट, ईंट-भटटा, स्टोन केशर खदाने और साप्ताहिक बाजार में चलाया गया ।
जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ मलिक आलमगीर ने बताया कि प्रथम चरण के एक्टिव केस फाइडिंग में कुल 134 जगहों पर अभियान चलाया गया, जिसमें 1630 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की गयी एवं 32 जाॅच हुयी, जिसमें 02 मरीज निकल कर आये ।
इसी क्रम में द्वितीय चरण में कुल 297 व्यक्तियो की जाॅच हुयी एवं 61 मरीज मिले । तृतीय चरण के तहत सोमवार 21 सितंबर 2021 तक कुल 1052 व्यक्तियों की स्कीनिंग की गई है, जिसमें 41 टीबी के लक्षण वाले व्यक्ति मिले, इन सबकी जाॅच हुयी, तो उसमें से कुल 7 लोगों में टीबी की पुष्टि हुई है ।
बताते चलें कि दो माह तक चलने वाले एसीएफ (एक्टिव केस फाइंडिंग) कार्यक्रम का चतुर्थ चरण 01 अक्टूबर से आरम्भ होगा तथा 31 अक्टूबर तक चलेगा,जिसमें मुख्यतः जनपद के निजी चिकित्सकों से सम्पर्क कर प्राइवेट अस्पतालों में इलाज करा रहे मरीज खोजे जाने हैं तथा निःक्षय पोषण योजना के अन्तर्गत 01 सितम्बर से पंजीकृत समस्त क्षय रोगियो का डीबीटी कराया जायेगा, जिसके लिये ब्लॉक एवं शहरी स्तर पर कुल 20 टीमें बनायी गयी हैं ।
इसी क्रम में अपर मुख्य सचिव पंचायती राज विभाग उ0प्र0 के पत्र के अनुपालन में समस्त 16 ब्लॉकों के नवनिर्वाचित प्रधानों को विकास खण्ड स्तर पर टीबी रोग उन्मूलन कार्यक्रम पर एक दिवसीय अनावासीय परिचयात्मक प्रशिक्षण प्रशिक्षण भी प्रदान किया जा रहा है । ग्राम प्रधानों के इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिला कार्यक्रम समन्वयक विवेक सरन , डीपीटीसी अरविन्द मिश्रा, जिला पीपीएम कोआर्डिनेटर अरविन्द रल्हन तथा राजेश कुमार श्रीवास्तव वरिष्ठ क्षय रोग पर्यवेक्षक की डयूटी लगायी गयी है। इस प्रशिक्षण में टीबी के लक्षणों के अलावा सरकार द्वारा टीबी मरीजों को दी जा रही निःशुल्क सेवाओं, क्षय रोग के सम्पूर्ण इलाज के दौरान 5 सौ रुपए प्रतिमाह पोषण हेतु मिलने वाली धनराशि तथा इन्फोरमेन्ट इन्सेनटिव की धनराशि रुपया 5 सौ प्रति मरीज के बारे में जानकारी दी जा रही है । टीबी रोगी के प्रथम सचना प्रदानकर्ता के बारे में भी ग्राम प्रधानों को बताया जा रहा है । अभी तक तीन ब्लाकों क्रमशः बभनजोत, बेलसर तथा छपिया में प्रशिक्षण कराया जा चुका है।
जिला क्षय रोग ने बताया कि जनपद में  01 जनवरी 2021 से 20 सितम्बर 2021 तक कुल 4120 लोगों में टीबी रोग की पुष्टि हुई है, जिनका इलाज चल रहा है । इनमें से 3337 मरीजों को डीबीटी का भुगतान किया जा चुका है ।
सितंबर 21, 2021

कालाबाजारी या कम गल्ला देने की शिकायत पर कोटेदार के साथ-साथ पर्यवेक्षणीय अधिकारी के विरूद्ध भी होगी कार्यवाही।

खाद्यान्न वितरण को लेकर डीएम ने जारी किए सख्त आदेश


जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत द्वितीय वितरण चक्र में 30 सितम्बर तक राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के अन्तर्गत अंत्योदय एवं पात्र गृहस्थी लाभार्थियों को आवंटित नियमित खाद्यान्न के वितरण हेतु सख्त निर्देश निर्गत किए हैं तथा आवश्यक वस्तुओं का वितरण निर्बाध रूप से सुनिश्चित कराने एवं कालाबाजारी रोकने हेतु समस्त उचित दर विक्रेताओं की दुकानों पर नोडल अधिकारियों की तैनाती कर दी है।
        जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया है कि 30 सितम्बर तक सम्पन्न होने वाले वितरण के दौरान अन्त्योदय कार्ड धारकों को 35 कि0ग्रा0 खाद्यान्न (20 किलोग्राम गेहूँ व 15 किलोग्राम चावल) तथा पात्र गृहस्थी राशन कार्डो से सम्बद्ध यूनिटों पर प्रति यूनिट 05 किलोग्राम खाद्यान्न (तीन किलोग्राम गेहूँ व दो किलोग्राम चावल) का वितरण लाभार्थियों में सुनिश्चित कराया जाय तथा गेंहॅू का वितरण मूल्य दो रूपए प्रति किलोग्राम तथा चावल का वितरण मूल्य तीन रूपए प्रति किलोग्राम होगा।
   उन्होंने बताया कि राशन कार्डधारकों को पोर्टेबिलिटी के अन्तर्गत खाद्यान्न प्राप्त करने की सुविधा अनुमन्य रहेगी। वितरण के द्वितीय चक्र के दौरान अंत्योदय श्रेणी के लाभार्थियों को माह जुलाई 2021 से सितम्बर 2021 हेतु प्रतिमाह एक किलोग्राम प्रति कार्डधारक की दर से कुल तीन किलोग्राम प्रति कार्डधारक चीनी का वितरण सुनिश्चित किया जायेगा। अंत्योदय कार्डधारकों को चीनी का वितरण मूल्य अट्ठारह रुपए प्रति किलोग्राम की दर से सुनिश्चित किया जायेगा। योजनान्तर्गत वितरण की अन्तिम तिथि 30 सितम्बर होगी, जिस दिन आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से खाद्यान्न प्राप्त न कर सकने वाले उपभोक्ताओं हेतु मोबाइल ओ0टी0पी0 वेरिफिकेशन के माध्यम से वितरण सम्पन्न किया जा सकेगा।
 उन्होंने निर्देशित किया है कि कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों के दृष्टिगत, आवश्यक वस्तुओं का निर्बाध रूप से वितरण सुनिश्चित कराने हेतु उचित दर विक्रेताओं द्वारा द्वितीय वितरण चक्र के दौरान भी खाद्यान्न का वितरण कार्य प्रातः काल 06.00 बजे से रात्रि 09.00 बजे तक सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने वितरण के सम्बन्ध में निर्देशित किया है कि यदि कहीं भी कोटेदार द्वारा निर्धारित यूनिट से कम राशन दिए जाने की शिकायत प्रमाणित होती है तो सम्बन्धित कोटेदार के साथ-साथ पर्यवेक्षणीय अधिकारी के विरूद्ध भी कार्यवाही सुनिश्चित होगी।
सितंबर 21, 2021

असंगठित क्षेत्र के श्रमिक भारत सरकार के ई-श्रम पोर्टल पर स्वयं या जन सुविधा केंद्र से निशुल्क करायें पंजियन- रचना केसरवानी।


उपश्रमायुक्त देवीपाटन मंडल श्रीमती रचना केसरवानी ने सभी असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों जैसे धोबी, दर्जी, माली, मोची, नाई, बुनकर, कोरी, जुलाहा, रिक्शा चालक, घरेलू कर्मकार, कूड़ा बीनने वाले कर्मकार, हाथ ठेला चलाने वाला, फुटकर सब्जी, फल-फूल विक्रेता, चाय, चाट, ठेला लगाने वाले, फुटपाथ व्यापारी, हमाल, कुली, जनरेटर, लाईट उठाने वाले, कैटरिंग में कार्य करने वाले, फेरी लगाने वाले, मोटर साइकिल/साइकिल मरम्मत करने वाले, गैरेज कर्मकार आदि 45 प्रकार के कार्य करने वाले श्रमिकों से अपील की है कि वे अपने मोबाइल से भारत सरकार के ईश्रम पोर्टल  *eshram.gov.in*  स्वयं पंजीयन कर सकते हों या अपने आधार कार्ड, मोबाइल नम्बर, बैंक पासबुक, नामिनी का आधारकार्ड  के साथ निकटतम जनसुविधा केन्द्र या श्रम विभाग कार्यालय, निकट जिलाधिकारी आवास गोंडा में संचालित जनसुविधा केंन्द्र में सम्पर्क कर निशुल्क पंजीयन करा सकते हैं। पंजीयन के उपरांत उनको 12 अंक के यूनीक नंबर वाला ईश्रम कार्ड प्राप्त होगा जो भारत सरकार द्वारा निर्गत होगा और पूरे देश में मान्य होगा ।

शनिवार, 18 सितंबर 2021

सितंबर 18, 2021

धूम धाम से मनाया गया विश्वकर्मा जयंती।




गोंडा। बड़े ही उत्साह पूर्वक पंडित दीनदयाल उपाध्याय औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्र पी0 डी0यू0 आई0टी0आई0 सिविल लाइन विष्णुपुरी कॉलोनी गोंडा में विश्वकर्मा पूजन का आयोजन किया सभी लोगों ने सुंदर पाठ भी किया  प्रबंधक हरीश गुप्ता ने बताया विश्वकर्मा जयंती, विश्वकर्मा, एक हिंदू भगवान, दिव्य वास्तुकार के लिए उत्सव का दिन है। उन्हें स्वायंभु और विश्व का निर्माता माना जाता है।उन्होंने द्वारका के पवित्र शहर का निर्माण किया जहां कृष्ण ने शासन किया, पांडवों की माया सभा, और देवताओं के लिए कई शानदार हथियारों के निर्माता थे।उन्हें लुहार कहा जाता है, ऋग्वेद में उल्लेख किया गया है, और इसे यांत्रिकी और वास्तुकला के विज्ञान, स्टैप्टा वेद के साथ श्रेय दिया जाता है। विश्वकर्मा की विशेष प्रतिमाएँ और चित्र सामान्यतः प्रत्येक कार्यस्थल और कारखाने में स्थापित किए जाते हैं। पूजा कार्यक्रम पंडित देवता प्रसाद पांडे पंडित देव प्रकाश पांडे ने संपन्न कराया कार्यक्रम में आए सभी छात्र-छात्राओं  प्रसाद वितरण किया गया पूजन समारोह में सारिका गुप्ता आलोक कुमार राजेश कुमार राज कुमार राजेंद्र कुमार हर्षित कुमार रवि शंकर प्रिंसी पांडे प्रतीक गुप्ता आदर्श श्रीवास्तव पंखुरी शिवांगी सिंह अनुराग शर्मा अंशिका अंकिता पांडे साक्षी पांडे तनु सिंह मौजूद रहे।

शुक्रवार, 17 सितंबर 2021

सितंबर 17, 2021

गरीब कल्याण मेले का आयोजन 25 सितंबर को, सभी ब्लॉकों पर आयोजित होगा मेला।



प्रदेश सरकार की ओर से लगातार प्रदेश के गरीब व पिछड़े वर्ग वाले लोगों के विकास लिए नई नई योजनाएं बनाने के साथ-साथ विविध कार्यक्रम आयोजित किए जा रहेे हैं। ऐसे ही एक बड़े आयोजन की शुरुआत आगामी 25 सितम्बर को होने जा रही है। गरीब कल्याण मेला के रूप में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में जिले के सभी 16 विकासखंडों मुख्यालयों पर अयोग्य मेला का भी आयोजन किया जाएगा।
          जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने बताया कि मेले में दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग वितरण, विभिन्न पेंशन व आवास और स्वरोजगार योजनाओं से वंचित पात्र लोगों को राज्य सरकार की योजना से जोड़े जाने के साथ-साथ आरोग्य मेले का भी आयोजन होगा। इसके साथ ही बैंकों से समन्वय स्थापित कर विशेष लोन शिविर लगाये जाएंगे। इस सम्बंध में सभी संबंधित विभागीय अफसरों को तैयारियां पूरी करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि गरीब कल्याण मेले में  स्थानीय जनप्रतिनिधियों की सहभागिता भी दर्ज होगी।
           जिलाधिकारी ने बताया कि इस मेले में गरीबों को जाति प्रमाण पत्र, मूल निवास प्रमाण पत्र जैसे जरूरी दस्तावेज बनाए जाएंगे और वहीं उन्हें बैंकों से ऋण प्राप्त करने की सुविधा भी मिलेगी। उन्होंने बताया कि 25 सितंबर को जनपद सभी ब्लाक मुख्यालयों पर सुबह 09 बजे से 04 बजे तक गरीब कल्याण मेले का आयोजन किया जाएगा। मेले के समापन के बाद सांय 04 बजे सभी खंड विकास अधिकारियों द्वारा मीडिया ब्रीफिंग की जाएगी। उन्होंने बताया कि मेले के सफल आयोजन हेतु जनपद स्तरीय अधिकारियों को ब्लाकवार नोडल अधिकारी नामित किया जाएगा जो अपनी देखरेख में गरीब कल्याण मेले का आयोजन सम्पन्न कराएगें।
सितंबर 17, 2021

18 सितम्बर से 06 अक्टूबर तक आयोजित होगी अंक सुधार परीक्षा, डीएम ने जारी किए सख्त आदेश।



यूपी बोर्ड की अंक सुधार परीक्षा को शुचिता के साथ सम्पन्न कराने को लेकर डीएम की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न

जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित अंक सुधार परीक्षा 2021 को पूरी शुचिता के साथ सम्पन्न कराने के आदेश दिए हैं। कलेक्ट्रेट सभागार में परीक्षा केंद्रों के केंद्र व्यवस्थापकों, स्टेटिक, सेक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेटों के साथ बैठक सम्पन्न हुई।
बैठक में डीएम ने स्पष्ट किया कि अंक सुधार परीक्षा मानकों एवं नियमों के अनुसार पूरी पारदर्शिता के सम्पन्न कराई जाय। उन्होंने बताया कि बोर्ड परीक्षा जनपद में कुल 10 परीक्षा केन्द्रों पर शनिवार 18 सितम्बर से 06 अक्टूबर तक आयोजित होगी। इस परीक्षा में हाईस्कूल के 338 एवं इण्टरमीडिएट के 585 छात्र सम्मिलित होगें।
बैठक के दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा अवगत कराया गया कि परीक्षा हेतु निर्धारित समस्त परीक्षा केन्द्रों में 10 वाह्य केन्द्र व्यवस्थापक, 10 पर्यवेक्षक, 04 सचल दल, 45 स्टेटिक मजिस्ट्रेट, 10 सेक्टर मजिस्ट्रेट तथा 04 जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। सभी परीक्षा केन्द्रों को जिला स्तरीय कण्ट्रोल रूम से व राज्य स्तरीय कण्ट्रोल रूम से जोड़ा जा चुका है तथा कण्ट्रोल रूम में पर्यवेक्षण हेतु नोडल व पाली वार प्रभारी अधिकारियों की तैनाती की गई है।
       डीएम निर्देश दिए कि जिला स्तरीय कण्ट्रोल रूम में जनपद के सभी 10 परीक्षा केन्द्र सम्पूर्ण परीक्षा अवधि में निरन्तर आन लाइन रखा जाय, तथा इसके निरन्तर पर्यवेक्षण के लिए कण्ट्रोल रूम में नोडल एवं प्रभारी अधिकारी तैनात रहेगें। उन्होंने कहा कि यदि किसी परीक्षाकेन्द्र में सी0सी0टी0 कैमरा सुचारू रूप से न चल रहा हो तो उसकी लिखित रिर्पोट तत्काल जिला विद्यालय निरीक्षक को दी जाये। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिए सभी परीक्षा केंद्रों में तैनात स्टेटिक मजिस्ट्रेट अपने ड्यूटी तिथि को परीक्षा प्रारम्भ के समय सुबह 08 बजे प्रथम पाली व 02 बजे दोपहर द्वितीय पाली में शुरू होने से 45 मिनट पूर्व निर्धारित परीक्षा केन्द्र में पहुंच जाएं और वहां पर तैनात अधिकारियों, कक्ष निरीक्षकों, आंतरिक सचल दल के सदस्यों की उपस्थिति की जांच करेगें।
          उन्होंने स्टेटिक मजिस्ट्रेटों को निर्देशित किया है कि वह अपनी उपस्थिति में प्रश्न पत्रों को खुलवाना सुनिश्चित करेंगें तथा परीक्षा समाप्ति के उपरान्त उत्तर पुस्तिकाओं को सील कराने के उपरान्त ही परीक्षाकेन्द्र को छोडेगें तथा परीक्षाकेन्द्र परिसर के अन्दर परीक्षार्थियों का पाठय सामग्री ले जाने की अनुमति कदापि न दी जाये। इस निमित्त परीक्षा केन्द्र परिसर में प्रवेश के पूर्व ही गेट पर आन्तरिक निरीक्षक दस्तों के द्वारा जिला प्रशासन के सक्रिय सहयोग से परीक्षार्थियों की व्यापक रूप से तलाशी ली जायें। आन्तरिक निरीक्षण दस्ते में परीक्षा केन्द्र के अध्यापक रहेगें। उन्होंने कहा कि स्टेटिक मजिस्ट्रेट यह सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी व्यक्ति परीक्षा केन्द्र के अन्दर मोबाइल ले कर ना जाने पाये। परीक्षाकेन्द्रों के औचक निरीक्षण के दौरान वाइस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी कैमरा के प्रभावी रूप से कार्य करने, संचालित होने की जांच अवश्य कर ली जाय।
           संवेदनशील व अतिसंवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर वाइस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी फुटेज व रिकॉर्डिंग के साथ राउटर डिवाइस के क्रियाशील होने की जांच निश्चित रूप से की जाय। परीक्षा केन्द्रों पर तैनात केन्द्र व्यवस्थापक, वाह्य केंद्र व्यवस्थापक पूरी परीक्षा अवधि की वायस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी फुटेज एवं रिकार्डिंग सुरक्षित रखने के साथ ही राउटर डिवाइस को क्रियाशील रखेंगें और निरीक्षण अधिकारी को परीक्षा अवधि से अवगत करायेगें। केन्द्र व्यवस्थापक के साथ केंद्र में तैनात पर्यवेक्षक एवं स्टेटिक मजिस्ट्रेट यह सुनिश्चित करेंगे कि प्रश्न पत्र एवं उत्तर पुस्तिकाएं सीसीटीवी फुटेज की निरंतर निगरानी में सुरक्षित रखी जायें।
बैठक में डीएम ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि यह सुनिश्चित करें कि प्रत्येक केन्द्र में पर्याप्त पुलिस कार्मिक तैनात रहें तथा प्रत्येक केंद्र में 02 पुलिस कांस्टेबल केन्द्र के चारों ओर निरन्तर भ्रमणशील रहें ताकि कोई भी व्यक्ति परीक्षा के दौरान उत्तर पुस्तिकाओं को अन्दर ध् बाहर न करने पाये। सभी सचल दलों को निर्देशित किया गया कि निरन्तर भ्रमणशील रहकर नकल विहीन सुचिता पूर्ण परीक्षा सम्पन्न करायेगें व प्रश्नपत्रों की सुरक्षा एवं उत्तर पुस्तिकाओं के लेखा को परीक्षा केन्द्रों में भ्रमण के दौरान अवश्य जांच की जाय।
         उन्होंने कहा कि अंक सुधार परीक्षा के दौरान परीक्षा में नकल आदि की शिकायत राज्य स्तर पर टोल फ्री नम्बर 18001805310 एवं 18001805312 तथा व्हाट्सएप नम्बर 9415866899 पर की जा सकती है। जनपद स्तर पर 05262-356882 इस नम्बर पर शिकायत दर्ज करायी जा सकती है। उन्होंने निर्देशित किया कि कंट्रोल रूम के प्रभारी प्राप्त शिकायत पर की गयी कार्यवाही का भी अंकन करेेंगें तथा प्रत्येक काल का अंकन एक रजिस्टर पर किया जाय।
  बैठक में मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी, डीआईओएस राकेश कुमार, बीएसए, सभी एसडीएम व पुलिस क्षेत्राधिकारीगण, सेक्टर, जोनल व स्टेटिक मजिस्ट्रेट्स एवं केन्द्रों व्यवस्थापक व प्रबन्धक उपस्थित रहे।

सोमवार, 13 सितंबर 2021

सितंबर 13, 2021

समस्त ग्रामीण एवं शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रत्येक रविवार को मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला का आयोजन।


जिलाधिकारी श्री मार्कंडेय शाही ने बताया है कि जनपद के समस्त ग्रामीण एवं शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर आगामी 19 सितम्बर, 2021 से प्रत्येक रविवार को प्रातः 10.00 बजे से 04.00 बजे तक " मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला ' आयोजित करने का निर्णय लिया गया है । 
               जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया है कि मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला के आयोजन को सफल बनाने हेतु दिशा- निर्देशों से समस्त अधीनस्थ अधिकारियों को सूचित करते हुए 19 सितम्बर 2021 से प्रत्येक रविवार को प्रातः 10.00 बजे से 04.00 बजे तक " मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला ” का आयोजन कराना सुनिश्चित करें।

सोमवार, 6 सितंबर 2021

सितंबर 06, 2021

आयुक्त करेंगे सर्वोच्च प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों व निर्माण कार्यों की विभागवार समीक्षा।


   आयुक्त, देवीपाटन मंडल, श्री एसवीएस रंगाराव ने शासन के सर्वोच्च प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों व निर्माण कार्य की विभागवार समीक्षा करने का निर्णय लिया है आयुक्त आगामी दिनांक: 7 सितंबर, 2021 को पूर्वाहन 11:00 बजे से कृषि, पशुपालन तथा उद्यान विभाग , 11:30 बजे से समाज कल्याण, महिला कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, पिछड़ा वर्ग कल्याण, विकलांग कल्याण, माध्यमिक व बेसिक शिक्षा विभाग तथा अपराहन 4:00 बजे से ग्राम्य विकास, खाद्य, पंचायतीराज, स्वतः रोजगार व उद्योग विभाग से संबंधित कार्यो के प्रगति की समीक्षा करें। वे आगामी 8 सितंबर, 2021 को पूर्वाहन 11:00 बजे से 2:00 बजे तक भवन निर्माण से संबंधित कार्यदायी विभाग के कार्यों की समीक्षा करेंगे।
सितंबर 06, 2021

डीएम ने सरकारी धन के गबन के आरोपी ग्राम विकास अधिकारी के विरूद्ध अभियोग चलाने की दी अनुमति।


गोंडा ।डीएम मार्कण्डेय शाही ने वित्तीय अनियमितता कर सरकारी धन का गबन करने के आरोपी ग्राम विकास अधिकारी राजेन्द्र कुमार एवं तकनीकी सहायक राम उबारन तिवारी विकासखण्ड बेलसर के विरूद्ध अभियोग चलाने की अनुमति प्रदान कर दी है।
बताते चलें कि मेड़बन्दी कार्य में अनियमितता की शिकायत पर खण्ड विकास अधिकारी द्वारा दोनों के विरूद्ध थाना उमरीबेगमगंज में मुकदमा दर्ज कराया गया था जिसमें विवेचक की जांच में दोनों कर्मी दोषी पाए गए। जिलाधिकारी श्री शाही ने बताया कि चन्द्रभूषण पाण्डेय विवेचक/उपनिरीक्षक, थाना-उमरी बेगमगंज, गोण्डा द्वारा मु0अ0सं0 210/2020 धारा 409 भा0द0वि0 बनाम राजेन्द्र कुमार, ग्राम विकास अधिकारी एवं श्री राम उबारन तिवारी, तकनीकी सहायक, विकासखण्ड बेलसर गोण्डा की केस डायरी के परीक्षण में पाया गया कि थाना उमरी में दर्ज अभियोग में राम अचल पुत्र अलखराम के खेत में मेढ़बन्दी कार्य पर धनराशि 39396 एवं कार्य सुरेश कुमार पुत्र साहेबराम के खेत में मेढ़बन्दी कार्य पर धनराशि 39396 का गलत भुगतान कराया गया है, जिसके लिए सम्बन्धित ग्राम प्रधान, ग्राम विकास अधिकारी एवं तकनीकी सहायक( मापकर्ता अधिकारी) ग्राम पंचायत-मरगूबपुर, थाना-उमरी बेगमगंज समान रुप से उत्तरदायी है।
इस सम्बन्ध में दोषी अधिकारियों के विरूद्ध अभियोग प्रचलित करने के लिए जिला विकास अधिकारी द्वारा बतौर नियुक्ति प्राधिकारी डीएम से अनुमति मांगी गई, जिस पर डीएम मार्कण्डेय शाही ने  राजेन्द्र कुमार पुत्र जियालाल, ग्राम विकास अधिकारी विकासखण्ड-कटरा बाजार गोण्डा निवासी-फैजाबाद रोड, पूरे शिवा बख्तावर, बुधई पुरवा, थाना-कोतवाली नगर गोण्डा के विरुद्ध धारा-409 भादवि0 अन्तर्गत अभियोग चलाये जाने की अनुमति दे दी है।
सितंबर 06, 2021

गोंड।नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा शत्रु सम्पति पर अवैध कब्जे की जांच हेतु डीएम ने गठित की कमेटी।


जिलाधिकारी मार्कंडेय शाही ने नगर पालिका अध्यक्ष गोंडा  द्वारा शत्रु संपत्ति पर कब्जा किए जाने के  संबंध में मीडिया में आई खबरों का संज्ञान लेते हुए प्रकरण की जांच हेतु एडीएम राकेश सिंह और नगर मजिस्ट्रेट वंदना त्रिवेदी को जांच अधिकारी नामित कर एक हफ्ते ने रिपोर्ट माँगी है।
   जिलाधिकारी ने बताया कि रकाबगंज फैजाबाद रोड गोंडा में स्थित शत्रु संपत्ति संख्या 15, 13, 16, 13व,18, 13 पर अनाधिकृत रूप से वर्तमान नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती उजमा राशिद  द्वारा किरायेदार के रूप में नियम विरुद्ध नक्शा स्वीकृत कराकर निर्माण कार्य करा लेने की ख़बरें विभिन्न मीडिया माध्यमों से संज्ञान में आईं हैं। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए डीएम ने उच्च स्तरीय अधिकारियों की समिति गठित करते हुए 1 सप्ताह में रिपोर्ट मांगी है।
सितंबर 06, 2021

राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन आगामी 11 सितंबर को।





     गोंडा । उ0प्र0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ के निर्देशानुसार एवं मा० जनपद न्यायाधीश श्री मयंक कुमार जैन के आदेशानुसार आगामी 11 सितंबर, 2021 को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन जनपद -न्यायालय गोण्डा एवं समस्त तहसील स्तर पर किया जा रहा है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, गोण्डा के सचिव श्री कृष्ण प्रताप सिंह द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में यातायात, लघु आपराधिक प्रकरण, नगरपालिका आदि से सम्बन्धित मामलों एवं बैंक मामले, धारा 138 पराक्रम लिखत अधिनियम वाद आदि (लम्बित एवं प्री-लिटिगेशन मामले) के साथ-साथ आवश्यकतानुरूप सभी सुलह योग्य आपराधिक वादो, सिविल वादों, भूमि अधिग्रहण वादो, मोटर दुर्घटना प्रतिकर मामले, पारिवारिक वादो, स्टाम्प वादो, उपभोक्ता फोरम वादों, राजस्व वादों चकबन्दी वादो, श्रम मामलों, माध्यस्थम प्रकरणों, नगरपालिका/नगर निगम टैक्स वसूली मामलों आदि को पक्षकारों की सहमति से लिया जा सकता है।       
               इसके अतिरिक्त विद्युत अधिनियम के अन्तर्गत सुलह योग्य वाद, अंतिम रिपोर्ट, धारा 446 द0प्र0स0 सम्बन्धी मामले, पब्लिक प्रिमिसेज एक्ट सम्बन्धी मामले उत्तराधिकार सम्बन्धी मामले, आयुध अधिनियम के उपयुक्त प्रकरण, बीमा सम्बन्धी वाद, स्थानीय विधियों के अन्तर्गत शमनीय वाद, सेवा/वेतन संबंधी वाद, सेवा निवृत्ति परिलाभों से सम्बन्धित प्रकरण, किरायेदारी वाद, वन अधिनियम के अन्तर्गत प्रकरण, पुलिस अधिनियम के अन्तर्गत चालान, मोटरयान अधिनियम के अन्तर्गत चालान, उत्तर प्रदेश एवं वाणिज्य अधिनियम के अन्तर्गत चालान, चलचित्र अधिनियम के अन्तर्गत, आबकारी अधिनियम सम्बन्धी वाद, गैम्बलिंग एक्ट के अन्तर्गत चालान, नगर निगम/नगर पालिका के अन्तर्गत चालान विकास प्राधिकरण, के अन्तर्गत चालान मेड़बन्दी एवं दाखिल खारिज वाद मोबाइल फोन एवं केबल नेटवर्क सम्बन्धी प्रकरण, प्री-लिटिगेशन प्रकरण, मनरेगा प्रकरण, शिक्षा का अधिकार सम्बन्धी प्रकरण, राशन कार्ड/बी0पी0एल0कार्ड/जाति एवं आय प्रमाण पत्र से सम्बन्धित प्रकरण, एवं अन्य प्रकार के वादों/प्रकरणों का निस्तारण सुलह समझौते के आधार पर तथा अर्थदण्ड अधिरोपित करके किया जायेगा। 
         समस्त वादकारियों से अपील है कि आगामी 11सितंबर, 2021 को कोविड-19 प्रोटोकाल यथा मास्क, सेनिटाइजर व सामाजिक दूरी का पालन करते हुए सम्बन्धित न्यायालय/ट्रिब्यूनल में पंहुचकर राष्ट्रीय लोक अदालत में अपने वादों का निस्तारण कराकर उक्त राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने में सहयोग करें।
सितंबर 06, 2021

सी0बी0सी0 योजनार्न्तगत बकायेदार 15 अक्टूबर तक एक मुश्त समाधान का लें लाभ।




   जिला ग्रामोद्योग अधिकारी श्री संतोष गौतम ने बताया है कि उ0प्र0खादी तथा ग्रामोद्योग विभाग से लिए गए ऋण के बकायेदारों को सूचित किया जाता है कि मुख्य कार्यपालक अधिकारी, उ0प्र0खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा लागू एक मुश्त समाधान योजनार्न्तगत जनपद के उद्यमियों/इकाईयों द्वारा ’’कोविड-19’’ संक्रमण फैलने के कारण भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा राज्यों को लाकडाउन किये जाने से उद्यमियों/इकाईयों द्वारा उक्त महामारी के कारण आपदा/विपदाकाल में एक मुश्त समाधान योजनार्न्तगत ऋण की धनराशि जमा करने की परेशानियों को दृष्टिगत रखते हुए उद्यमियों/इकाईयों को ऋण जमा करने हेतु योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए 31 दिसम्बर, 2021 तक अवधि बढा़ई गयी थी।
          उन्होंने बताया है कि  योजना में मुख्य कार्यपालक अधिकारी के आदेश द्वारा 15 अक्टूबर, 2021 के बाद ब्याज एवं दण्ड ब्याज एक मुश्त समाधान (ब्याज वा दण्ड ब्याज की माफी के पश्चात मात्र मूलधन ही जमा करना है) का लाभ उद्यमियों/इकाईयों को न दिये जसी0बी0सी0 योजनार्न्तगत बकायेदारों को सूचित किया जाता है कि 15 अक्टूबर, 2021 तक एक मुश्त समाधान (ब्याज व दण्ड ब्याज माफी के पश्चात् मात्र मूलधन ही जमा करना है) का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। 
        इस योजना का लाभ इस तिथि के बाद नहीं प्रदान किया जायेगा।
सितंबर 06, 2021

जिलाधिकारी ने जनपद में संचालित व निर्माणाधीन गौ आश्रय स्थलों की जांच हेतु गठित की कमेटी, समिति एक सप्ताह में देगी रिपोर्ट।





गोंडा जिलाधिकारी मार्कण्डय शाही ने जनपद में संचालित एवं निर्माणाधीन समस्त गौ-आश्रय स्थलों की जांच हेतु तहसीलवार 07 सदस्यीय कमेटी का गठन कर जांच समिति से एक सप्ताह में रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं।यह जानकारी देते हुए डीएम श्री शाही ने बताया कि जनपद में संचालित एवं निर्माणाधीन समस्त गौ-आश्रय स्थलों की जांच हेतु तहसीलवार एसडीएम की अध्यक्षता में 07 सदस्यीय समिति का गठन किया गया है जिसमें मुख्य पशु चिकित्साधिकारी सदस्य, सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारी सदस्य, सम्बन्धित पशु चिकित्साधिकारी सदस्य, सहायक विकास अधिकारी पंचायत सदस्य, सहायक कार्यक्रम अधिकारी मनरेगा सदस्य तथा क्षेत्रीय राजस्व निरीक्षक, लेखपाल एवं पंचायत सचिव सदस्य होंगे। जिलाधिकारी ने समिति को निर्देशित किया है कि सभी गौ आश्रय स्थलों अस्थाई और स्थाई, निर्माणाधीन का गहनता पूर्वक निरीक्षण संपादित कराकर प्रत्येक केंद्र के बारे में विस्तृत निरीक्षण आख्या 1 सप्ताह में उपलब्ध कराएंगे। जिन आश्रय स्थलों पर पशुओं के रहने, उनके चारा पानी, वैक्सीनेशन आदि के संबंध में समस्या पाई जाती है तो उनका तत्काल समाधान भी कराया जाएगा इस कार्य में किसी भी दशा में शिथिलता स्वीकार्य नहीं होगी।