Breaking

बुधवार, 23 दिसंबर 2020

पंचायत निर्वाचन-2021 को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रभारी अधिकारियों व सहायक प्रभारी अधिकारियों के साथ की बैठक दी जिम्मेदारी।


जिला निर्वाचन अधिकारी ने 22 प्रभारी अधिकारियों व 54 सहायक प्रभारी अधिकारियों के साथ बैठक कर तैयारियों के बारे में की चर्चा
त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन-2021 को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी डा0 नितिन बंसल ने 22 प्रभारी अधिकारियों तथा 54 सहायक प्रभारी अधिकारियों की तैनाती कर दी है। मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में उन्होंने नियुक्त किए गए अधिकारियों के साथ बैठक कर त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन को सम्पन्न कराए जाने के सम्बन्ध में उनके दायित्वों के अनुरूप तैयारियां पूरी करने के निर्देश दिए।
      बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिए कि सभी विभागाध्यक्ष अपने-अपने विभागों के कार्मिकों की सूची एनआईसी में तत्काल उपलब्ध करा दें ताकि निर्वाचन कार्य हेतु कार्मिकों की फीडिंग कराई जा सके। सभी उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने क्षेत्र के संवेदनशील एवं अति संवेदनशील मतदान केन्द्रों का चिन्हांकन कर सूची बना लें तथा ग्राम पंचायतों के पुनर्गठन के अनुसार बूथ बनाए जायं। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि स्कूलों में बनने वाले मतदान केन्द्रों का निरीक्षण कर उसकी भौतिक स्थिति का जायजा ले लें तथा प्रत्येक दशा में सुनिश्चित करें कि जर्जर भवन मतदान केन्द्र न बनने पावें तथा मतदान केन्द्रों पर शौचालय, विद्युत आपूर्ति तथा पेयजल का प्रबन्ध भी हो।
      जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सदस्य जिला पंचायत के पद हेतु नामांकन जिला मुख्यालय पर तथा अन्य समस्त पदो ंके लिए नामांकन विकासखण्ड मुख्यालयों पर होगा। उन्होंने बताया कि वर्तमान में कुल 148 मतदान केन्द्र तथा 4195 मतदेय स्थल सृजित हैं। उन्होंने प्रभारी अधिकारियों के बारे में बताया कि मुख्य विकास अधिकारी को मतदान एवं मतगणना कार्मिक, चकबन्दी बन्दोबस्त अधिकारी को मतपत्र व्यवस्था, नगर मजिस्ट्रेट को यातायात व्यवस्था, उपायुक्त श्रम एवं रोजगार को लेखन सामग्री, निर्वाचन, मतगणना सामग्री व्यवस्था, मुख्य विकास अधिकारी को प्रेक्षक व्यवस्था, एडीएम को आचार संहिता एवं कानून व्यवस्था, अपर उप जिलाधिकारी द्वितीय को कन्ट्रोल रूम व्यवस्था, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड को टेन्ट, फर्नीचर, बैरीकेटिंग, लाइट व स्ट्रांगरूम व्यवस्था, एडीएम को आनलाइन सूचनाओं के प्रेषण, मुख्य विकास अधिकारी को बूथ निर्माण एवं एएमएफ व्यवस्था, जिला विकास अधिकारी को वीडियोग्राफी एवं सीसीटीवी व्यवस्था, सभी एसडीएम को मतदाता सूची की व्यवस्था, एक्सईएन ग्रामीण को मतपेटी व्यवस्था, डीसी एनआरएलएम को रूटचार्ट, कम्यूनिकेशन प्लान एवं डिस्ट्रिक्ट इलेक्शन, अपर उप जिलाधिकारी प्रथम को शिकायतों के निस्तारण, मुख्य कोषाधिकारी को यात्रा भत्ता व्यवस्था व निर्वाचन व्यय लेखा,  उपनिदेशक सूचना को मीडिया प्रबन्धन, संयुक्त निदेशक अभियोजन को विधि व्यवस्था, डीएसओ को भोजन एवं जलपान, मुख्य विकास अधिकारी को कम्प्यूटर एवं कनेक्टिविटी व्यवस्था तथा सीएमओ को प्राथमिक चिकित्सा एवं औषधि किट व्यवस्था का प्रभारी बनाया गया है। उन्होंने सभी प्रभारी अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए है कि वे अपने-अपने दायित्वों को ठीक प्रकार से समझ लें तथा राज्य निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुसार अभी से तैयारियां शुरू कर दें। उन्होंने कहा कि टेण्डर आदि का कार्य शीघ्र करा लिया जाय।
     बैठक में मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी राकेश सिंह, सभी उपजिलाधिकारी, सभी प्रभारी अधिकारीगण तथा खण्ड विकास अधिकारीगण, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी, सहायक निर्वाचन अधिकारी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें